भारत के पास विश्व की सबसे विस्तृत और विविधतापूर्ण शिक्षण-व्यवस्था है । निजीकरण के विस्तार, स्वायत्तता में बढ़ोतरी और नई उभरती हुई दिशाओं में पाठ्यक्रमों की शुरुआत ने उच्चतर शिक्षा की पहुँच का दायरा बढ़ाया दिया है । ठीक उसी अनुपात में उच्‍च शिक्षा की गुणवत्ता एवं प्रासंगिकता के प्रति भी चिन्ता बढ़ती गयी । इससे जुड़ी चिन्ताओं से जूझने के लिए ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति’ (रा.शि.नी. 1986) और क्रियात्मक योजना (क्रि.यो.1992) ने अपेक्षित नीतियाँ एवं योजनाएँ बनाने के लिए राष्ट्रीय स्तर की एक स्वतंत्र मूल्यांकन संस्था स्थापित करने की सलाह दी । इसके परिणाम स्वरूप सन् 1994 ई. में ‘विश्वविद्यालय अनुदान आयोग’ (यूजीसी) के स्वायत्त संस्थान के रूप में ‘राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद्’ (एन.ए.ए.सी.) की स्थापना की गयी, जिसका मुख्य कार्यालय बेंगलूरु में स्थित है । एन.ए.ए.सी. का महत्व उसके परिकल्पना वक्तव्य में प्रतिबिंबित होता है, जिसमें गुणवत्ता को उच्‍चतर शिक्षा संस्थानों के कार्यात्मक रूप से आंतरिक अंग सुनिश्चित करना माना गया है ।

एन.ए.ए.सी. अपना कार्य ‘प्रमुख परिषद’ (जीसी) और ‘कार्यकारी समिति’ (ईसी) के माध्यम से करता है, जिससे शिक्षा क्षेत्र के प्रशासक, नीति-निर्माता और भारत की शिक्षा व्यवस्था के विभिन्न भागों के अकादमिक व्यक्तित्व जुड़े होते हैं । यूजीसी के अध्यक्ष ही एन.ए.ए.सी. की सामान्य परिषद (जीसी) के अध्यक्ष होते हैं । कार्यकारी समिति के अध्यक्ष का चुनाव सामान्य परिषद (जीसी) के अध्यक्ष द्वारा मनोनित उत्कृष्ट आकदमिक व्यक्तित्व का किया जाता है । एन.ए.ए.सी. के निदेशक ही अकादमिक एवं प्रशासनिक प्रमुख और ईसी एवं जीसी के सदस्य-सचिव होते हैं । योजनाओं को क्रियान्वित करनेवाले वैधानिक निकायों और आन्तरिक कर्मचारियों के अतिरिक्त एन.ए.ए.सी. समय-समय पर स्थापित की जानेवाली सलाहकार और परामर्शदाता समितियों से दिशा-निर्देश प्राप्त करता है।

स्व और बाह्य गुणवत्ता मूल्यांकन, संवर्धन और संपोषण पहलुओं के संयोजन से गुणवत्ता को भारत में उच्चतर शिक्षा का निर्धारक त्तव बनाना।


 

 

घोषणाएँ

  1. वास्‍तुविद् का नामिकायन
  2. संस्थानों की कायापलट करने की दिशा में विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा समर्थित ‘संस्‍थानों में लिंग समानता को बढ़ावा देने (GATI) संबंधी योजना’ के अंतर्गत पुरस्‍कार – ‘भारत में विज्ञान और प्रौद्योगिकी एवं उच्च शिक्षा में लिंग समानता को आगे बढ़ाने के लिए फ्रेमवर्क का विकास’ हेतु ।
  3. हिन्‍दी परामर्शदाता का नामिकायन (संविदा आधार पर)
  4. प्रत्यायन परिणाम - 04 मई, 2020
  5. उच्‍च शिक्षा संस्‍थानों के परिसर में परिशोधित छात्र संतुष्टि सर्वेक्षण (SSS) पोस्टर
  6. नैक (NAAC) को ए.क्‍यू.ए.आर. (AQAR) प्रस्‍तुत करने के संबंध में - दिनांक 31-05-2021 तक बढ़ाई गई परिशोधित समयसीमा ।
  7. नैक (NAAC) पोर्टल पर उच्‍च शिक्षा संस्‍थानों का पंजीकरण
  8. दि न्यू इंडियन एक्सप्रेस समाचारपत्र (edex) के अखिल भारतीय संस्करणों में निदेशक, नैक (NAAC) का विशेष साक्षात्कार

Read More

सूचनाएं

  1. नैक (NAAC) को ए.क्‍यू.ए.आर. (AQAR) प्रस्‍तुत करने के संबंध में - दिनांक 31-05-2021 तक बढ़ाई गई परिशोधित समयसीमा ।
  2. सभी उच्च शिक्षा संस्थानों के लिए अधिसूचना - शैक्षि‍क वर्ष 2019-2020 (कोविड-19 महामारी को ध्‍यान में रखते हुए)
  3. सभी उच्च शिक्षा संस्थानों के लिए अधिसूचना – प्रत्‍यायन की विधिमान्‍यता-अवधि का विस्तार (कोविड-19 महामारी को ध्‍यान में रखते हुए)
  4. स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय, स्वास्थ्य विज्ञान महाविद्यालय, मुक्त विश्वविद्यालय और अध्‍यापक-शिक्षा महाविद्यालयों के परिशोधित ए.क्‍यू.ए.आर. (AQAR) दिशानिर्देश-मसौदा के बारे में अधिसूचना
  5. सामान्य विश्वविद्यालयों, स्वायत्त महाविद्यालयों और संबद्ध / संघटक महाविद्यालयों के परिशोधित ए.क्‍यू.ए.आर. (AQAR) दिशानिर्देश-मसौदा के संबंध में अधिसूचना
  6. पंजीकृत प्रयोगकर्ताओं और सर्वेक्षण सहभागियों को ईमेल-संदेश से संबंधित अधिसूचना ।

Read More

दिशा-निर्देश

  1. शिकायत निवारण (अपील) और अपील का आशय हेतु दिशानिर्देश
  2. नैक (NAAC) द्वारा अनुसरण की जानी वाली ग्रंथ-सूची डाटा अधिप्रमाणन कार्यप्रणाली (विश्वविद्यालयों और स्वायत्त महाविद्यालयों के लिए)
  3. आई.क्‍यू.ए.सी. (IQAC) और ए.क्‍यू.ए.आर. (AQAR) की रचना के लिए नये दिशानिर्देश
  4. अपील से संबंधित क्रियाविधि हेतु दिशानिर्देश
  5. वित्तीय समर्थन के बिना संगोष्ठी हेतु शैक्षिक सहयोग की प्रक्रिया
  6. कार्यालय ज्ञापन : सरकारी़ एवं गैर-सरकारी सदस्यों / विशेषज्ञों के लिए देय टी.ए. और बैठक-शुल्क
  7. संस्थानों द्वारा 'लागू नहीं मेट्रिक्स' के चुनाव संबंधी दिशानिर्देश
  8. नैक (NAAC) की मूल्यांकन और प्रत्यायन प्रक्रिया से संबंधित शिकायत निवारण हेतु केंद्रीकृत शिकायत प्रबंधन समिति (CCMC)
  9. शिकायत निवारण के लिए दिशानिर्देश (अपील) और अपील के लिए आशय
  10. एन.ए.ए.सी. के ग्रंथमितीय डाटा सत्यापन कार्यविधि (विश्वविद्यालय तथा स्वायत्त महाविद्यालयों)।
  11. आई.क्यू.ए.सी. तथा ए.क्यू.ए.आर. की रचना हेतु नए दिशा-निर्देश ।
  12. अपीलों की कार्यविधि हेतु दिशा-निदेश ।
  13. वित्तीय सहायता के बिना संगोष्ठी के लिए शैक्षणिक सहयोग हेतु प्रक्रिया ।
  14. कार्यालय ज्ञापन – अधिकारियों तथा गैर-अधिकारियों / विशेषज्ञों के लिए टी.ए. तथा बैठक की देय शुल्क।
  15. “अनुचित मेट्रिक्स” से बाहर निकलने हेतु संस्थानों को दिशा-निर्देश
  16. एन.ए.ए.सी. के मूल्यांकन तथा प्रत्यायन प्रक्रिया के विषय में केंद्रीकृत शिकायत प्रबंधन समिति (सी.सी.एम.एस.) ।

लेखागार
पूछताछ
+91-80-23005100, 111
कॉल सेंटर / एफ एम सी
080- 23005200
This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
मदत कक्ष
+91-080-23005192, 193
This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
मदत कक्ष या कॉल सेंटर का समय
सुबह 09:15 से दोपहर 01:00 तथा दोपहर 01:30 से शाम 05:45, रविवार, शनिवार तथा सभी सरकारी छुट्टियों के अतिरिक्त
एन.ए.ए.सी दिल्ली कार्यालय
+91-11-23239332, 333, 340

This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.

 

 

Avatar
 

Pragathi
Online

Welcome to NAAC, how may I help you?

Select one of the following options or type your query here...